English  /  हिन्दी

अग्रवाल ग्रुप

नखराली ढाणी जैसे एक मज़बूत व मनोरंजक विचार की उत्पत्ति का कारण अग्रवाल ग्रुप के अटल प्रयास हैं। सिर्फ एक ही व्यवसाय तक सीमित न रहकर अग्रवाल ग्रुप, अपने व्यवसाय को भिन्न व्यावसायिक क्षेत्रों में विभाजित करते हुए हर क्षेत्र में सफलता अर्जित की है।
अग्रवाल ग्रुप प्रगति की दिशा में कार्य करने हेतु एसी कार्यनीतियों का प्रयोग करने में विश्वास रखता है जिनसे वह लाभदायक व्यावसायिक निर्णयों तक पहुंच कर अपनी कामयाबी का प्रमाण दे सके।
श्री पुरूषोत्तम अग्रवाल जी जिन्होंने अपनी व्यावसायिक यात्रा की शुरूआत कोयला वहन हेतु वाहन बुक करने से की थी, आज उनके कड़े परिश्रम के बल पर अग्रवाल ग्रुप, मध्य- भारत के सबसे प्रमुख व्यावसायिक साम्राज्यों में अपना नाम दर्ज करा चुका है।
अग्रवाल ग्रुप,के वाइस चेयरमेन श्री विनोद कुमार अग्रवाल व श्री संजय कुमार अग्रवाल के निरंतर सहयोग से आज अग्रवाल ग्रुप ने अपने व्यवसाय को भिन्न व्यावसायिक क्षेत्रों में विभाजित करते हुए हर क्षेत्र में सफलता अर्जित की है।
रूढ़िवादी व्यावसायिक विचारधाराओं को आधुनिक व्यावसायिक सूत्रों में परिवर्तित करते हुए अग्रवाल ग्रुप ने सदा ही तकनीकी नव-परिवर्तनों को अपना कर प्रगतिशील व्यापार से कदम मिलाकर चलने हेतु कठोर प्रयास किए हैं।
आज व्यवसाय क्षेत्र में एक आदर्श मानदंड के रूप में उभर कर, अग्रवाल ग्रुप ने अपने व्यवसाय मंडल का विस्तार निम्न क्षेत्रों में किया है- शिक्षा (स्कूल एवं कॉलेज), मैरिज गार्डन्स, मनोरंजन (वॉटर पार्क), फ्लोर मिल्स एवं रियस इस्टेट कंस्ट्रक्शन एवं डेवलपमेंट ।

एम. डी.प्रोफाईल

श्री संजय जी अग्रवाल
मेनेजिंग डायरेक्टर
एक गहरी वव्यावसायिक परख, सकारात्मक दृष्टिकोण व दृढ इच्छाशक्ति के स्वामी, नखराली ढाणी के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री संजय जी अग्रवाल ने सभी मुश्किलों को हराते हुए अग्रवाल ग्रुप को नयी व्यावसायिक ऊंचाइयों तक पहुंचाया है।
अपने पिता के दृढ संकल्पी व्यक्तित्व एवं माता के अनंत आशीर्वाद से विभूषित श्री संजय अग्रवाल जी ने अल्प आयु में व्यवसाय की बारीकियों को समझते हुए अपनी व्यावसायिक यात्रा का आरम्भ किया। विपरीत परिस्तिथियों का मज़बूती से सामना कर उन्होंने अग्रवाल ग्रुप को अपने अटल परिश्रम के बल पर उन्नति के पथ पर अग्रसर किया।
श्री अग्रवाल जी एक अनुभवी व्यवसायी हैं व व्यवसाय के नियम व कायदों का कर्मठता से पालन करते हैं। वे व्यवसाय में प्रतिबद्धता को महत्व देते हैं व एक नीतिपूर्ण व्यावसायिक दृष्टिकोण अपनाते हुए हर वादे पर खरे उतरते हैं।

सालासर मंदिर

राजस्थान की पवित्र भूमि की अभिन्न पहचान - सालासर बालाजी हनुमान मंदिर , विश्वप्रसिद्ध धार्मिक स्थली है। यह मंदिर राजस्थान में चुरू जिले के सजनगढ़ गाँव से समीप सालासर गाँव में स्थित है। यहां देशभर से सभी हनुमान भक्त भगवान हनुमान जी के चरणों मे शीश झुकाकर अपनी मनोकामनाओं की पूर्ती हेतु प्रार्थना करते हैं व उनका आशीर्वाद साथ ले जाते हैं। चूंकि, नखराली ढाणी राजस्थान की अनूठी परंपरा व संस्कृति से प्रेरित एक विलेज रिसोर्ट है , इस मंदिर की स्थापना आगंतुकों को राजस्थानी भूमि पर होने का अनुभव कराने व नखराली ढाणी के वातावरण में धार्मिकता व सकारात्मकता का संचार करने हेतु की गई है।

नखराली ढाणी

सन् 1995 से नखराली ढाणी , इंदौर शहर के लोगों के बीच संस्कृति व मनोरंजन के एक सफल व बेजोड़ मेल के रूप में जाना जाता रहा है। नखराली ढाणी ,राजस्थानी व मालवी संस्कृति का ऐसा संगम है जो सभी आगंतुकों को अंतहीन आकर्षण से बांधे रखता है व उन्हें उल्लास के रंग में डूब जाने को विवश कर देता है।
हर शाम इस अनोखी जगह को राजस्थानी परिवेश के पारंपरिक तत्वों की सहायता से सजाया जाता है, जिससे यहां आने वाले हर व्यक्ति को ऐसा अनुभव होता है मानो वह राजस्थान के किसी रंग- बिरंगे गांव में आ गया हो।
यहां के कोने- कोने में राजस्थानी सौष्ठव की झलक देखने को मिलती है। जिस तरह पारंपरिक गावों में किसी मेहमान के आने पर उसके सत्कार में आरती उतारी जाती है, उसी तरह यहां आने वाले सभी लोगों का स्वागत आरती की थाली व कुमकुम के तिलक से किया जाता है। राजस्थानी परिधान में मेजबानी करते लोग, मेहमानों को- “ आओ सा, पधारो सा’’ कहकर उनका स्नेहपूर्ण स्वागत करते हैं।
राजसी सत्कार व स्नेहिल आमंत्रण मेहमानों के मन में प्रसन्नता से भर देता है। इस भव्य मेले में राजस्थानी नर्तकों द्वारा पारंपरिक नृत्य, जादू, कठपुतली नाटक की प्रस्तुति, व बैलगाडी, ऊंट एवं घोड़े की सवारी आदि मनोरंजन के मुख्य केंद­ हैं।
यहां एक स्वच्छ व बडा स्वीमिंग पूल, डांस ज़ोन व एक विशाल भोजन कक्ष है जहां मेजबानों द्वारा प्रेम-भाव से परोसा गया विविध प्रकार का स्वादिष्ट भोजन आपको अपनेपन का अहसास कराता है। भांति-भांति के ज़ायकेदार व्यंजन व मनुहार द्वारा कराया गया भोजन आपके जीवन की सबसे यादगार दावत साबित होगी। अपार स्नेह व सौहार्द के मेल से परोसे गए व्यंजनों का एक-एक निवाला आत्मा को संतुष्टि का अनुभव कराता है

नखराली ढाणी का आरंभ

मनोरंजन की अभूतपूर्व दुनिया में आपका स्वागत है।
यहां उत्सव एक परंपरा है और इस परंपरा को हर दिन एक नई ताज़गी व उत्साह के साथ निभाया जाता है। नखराली ढाणी के अदभुत माहौल में मनोरंजन का एक नया रूप देखने को मिलता है। हर दिन यहां मेला और हर रात त्यौहार जैसी प्रतीत होती है। यहां के खाने का स्वाद एक रीति और भव्यता संस्कृति है।
नखराली ढाणी , राजस्थान की रंगीन व समृद्द भूमि से प्रेरित एक एसी जगह है जहां के कण-कण में सुरूचि व विस्मय रचा-बसा है। नखराली ढाणी की शुरूआत, आम लोगों को राजस्थानी भव्यता व विविधता से अवगत कराने के उद्देश्य से की गई थी। शुरूआत में राजस्थानी परिदृश्य नखराली ढाणी का मात्र एक अंग था किंतु धीरे- धीरे राजस्थानी संस्कृति के आकर्षण व विशेषता ने नखराली ढाणी के रूप में इंदौर के उत्साह प्रेमी लोगों के दिल में एक विशेष स्थान बना लिया।

नखराली ढाणी रजवाडी

विवाह हर व्यक्ति के जीवन का सबसे महत्वपूर्ण दिन होता है क्योंकि जीवन भर साथ निभाने का वादा करने वाले दो लोग इन अमूल्य क्षणों को एक उत्सव के रूप में मनाते हैं।
नखराली ढाणी रजवाडी, राजस्थानी भव्यता से प्रेरित एक विवाह परिसर है जो अपनी अद्वितीय सेवाओं व वैभवशाली सजावट द्वारा विवाह समारोह को जीवन का सबसे यादगार दिन बनाता है।
विवाह के आयोजन को लेकर हर व्यक्ति के मन में एक भव्य व शानदार विवाह प्रयोजन की रूपरेखा होती है, वह सोचता है कि आयोजन में सजावट या अतिथि सत्कार में किसी भी प्रकार की कमी न हो। वह एक वैभवशाली विवाह समारोह का स्वप्न देखता है।
नखराली ढाणी रजवाडी ऐसे लोगों के सपनों को हकीकत में बदलने हेतु विलासमय सेवाएं प्रदान करता है। यह परिसर एक समय में 300 लोगों को समायोजित करने की क्षमता रखता है। इसमें एक बड़ा बैंक्वेट हॉल है जिसमें वॉश एरिया, किचन, 2 कमरे व एक स्टेज भी है।
1500 मेहमानों की खातिरदारी करने में सक्षम एक बडा लॉन है जहां 12 एयर कंडीशन्ड कमरे , 2 गैस बैंक , 2 स्टोर हाउस, 2 आधुनिक किचन , एक वॉश एरिया, फेरा-चौरी व पार्किंग हेतु पर्याप्त स्थान है।